प्रमुख मासिक समाचार


इसमें पुरे दुनिया के सभी छेत्रो से चुनिदा समाचार रखे जाते

2017 के लिए वर्ल्ड प्रेस फोटो अवार्ड्स घोषित कर दिए गए हैं.

80,000 से अधिक तस्वीरों में से चुना गया है

विजेता तस्वीरों में कुछ तस्वीरें ऐसी हैं जो आपको विचलित कर सकती हैं लेकिन सच्चाई को बयां करती हैं. मसलन पहली तस्वीर जिसमें तुर्की में रूसी राजदूत की हत्या करने वाला नज़र आ रहा है जिसमें राजदूत का शव भी दिखाई दे रहा है. इस तस्वीर ने पहला पुरस्कार जीता है. ये तस्वीर 19 दिसंबर 2016 की है जिसे समाचार एजेंसी एपी के प्रेस फोटोग्राफर बुरहान ओज़बिलिसी ने कैमरे में क़ैद किया था.

निर्णायक मंडल के अध्यक्ष स्टुअर्ट फ्रैंकलिन का कहना है, ''मुझे लगता है कि ये किसी ज़बर्दस्त ख़बर को बयां करने वाली तस्वीर है जिसे कैमरे में क़ैद करने के लिए गजब के साहस की ज़रूरत होती है.'' वर्ल्ड प्रेस फोटो अवार्ड्स वर्ष 1955 से प्रदान किए जा रहे हैं. इस वर्ष आठ श्रेणियों में 25 देशों के 45 फोटोग्राफर्स को सम्मानित किया गया है. आइए अब देखते हैं कुछ अन्य तस्वीरें जो वर्ल्ड प्रेस फोटो अवार्ड्स जीतने में सफल हुई हैं..

साल 2017 के लिए वर्ल्ड प्रेस फोटो अवार्ड्स जीतने वालों की तमाम तस्वीरें आप www.worldpressphoto.org. पर क्लिक करके देख सकते हैं.

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संस्थान (इसरो) ने एक साथ 104 सैटेलाइट्स को लाँच करके नया इतिहास रचा है. एक अंतरिक्ष अभियान में इससे पहले इतने उपग्रह एक साथ नहीं छोड़े गए हैं. इसरो का अपना रिकॉर्ड एक अभियान में 20 उपग्रहों को प्रक्षेपित करने का है. इसरो ने ये कारनामा 2016 में किया था.इससे पहले अब तक किसी एक अभियान में सबसे ज़्यादा उपग्रह भेजने का विश्व रिकॉर्ड रूस के नाम था, जिसने 2014 में एक अभियान में 37 उपग्रहों को भेजने का काम किया था.इस अभियान में भेजे गए 104 उपग्रहों में से तीन भारत के हैं. जबकि बाक़ी के 101 सैटेलाइट्स इसराइल, कज़ाख़्स्तान, नीदरलैंड, स्विटज़रलैंड और अमरीका के हैं.
इस अभियान के बारे में जानकारी देते हुए इसरो के चेयरमैन एएस किरण कुमार ने मीडिया से कहा, "इनमें से एक उपग्रह का वजन 730 किग्रा का है, जब बाक़ी के दो का वजन 19-19 किग्रा है. इनके अलावा हमारे पास 600 किग्रा और वजन भेजने की क्षमता थी, इसलिए हमने 101 दूसरे सैटेलाइटों को भी लाँच करने का फ़ैसला लिया."जिन देशों के सैटेलाइट्स को इसरो ने लाँच किया है, उनमें अमरीका और इसराइली सैटेलाइट भी शामिल हैं, जो ये बता रहे हैं कि सैटेलाइट प्रक्षेपण के बाज़ार में भारत बड़ी तेजी से अपनी जगह बना रहा है. दरअसल पिछले कुछ सालों में भारत अंतरिक्ष प्रक्षेपण के बाज़ार में भरोसेमंद प्लेयर बनकर उभरा है. बीते कुछ सालों में भारत ने दुनिया के 21 देशों के 79 सैटेलाइट को अंतरिक्ष में प्रक्षेपित किया है, जिसमें गूगल और एयरबस जैसी बड़ी कंपनियों के सैटेलाइट शामिल रहे हैं.

एक साथ ही 104 सैटेलाइट्स को भेजने के बाद इस बाज़ार में भारत की जगह और मज़बूत होगी. इसकी सबसे बड़ी वजह तो यही है कि अमरीका की तुलना में भारत से किसी सैटेलाइट को अंतरिक्ष में भेजने का खर्चा करीब 60-65 फ़ीसदी कम होता है, मोटे तौर पर महज एक तिहाई खर्च में भारत किसी का सैटेलाइट अंतरिक्ष में भेज सकता है.भारत में उपलब्ध सस्ता श्रम के अलावा कम लागत की वजह इसरो का सरकारी तंत्र होना भी है. हालांकि भारत को इस सस्ते बाज़ार में भी चीन से होड़ लेनी पड़ रही है, क्योंकि चीन भी सस्ते दर पर अंतरिक्ष में उपग्रहों को भेजने के लिए बड़ा बाज़ार है. पल्लव बागला के मुताबिक भारत इस बाज़ार में चीन को तभी चुनौती दे पाएगा जब वह बड़े बड़े सैटेलाइटों को प्रक्षेपित करेगा. बागला कहते हैं, "अंतरिक्ष के कार्मिशयल लांचर का जो बाज़ार है उसमें छोटे सैटेलाइट का हिस्सा बहुत कम है, बड़े सैटेलाइट को भेजने से ज़्यादा पैसा आता है."

इसके अलावा चीन अपने अंतरिक्ष अभियान पर भारत की तुलना में ढाई गुना ज्यादा पैसा खर्च कर रहा है और उसके पास सैटेलाइटों को लाँच करने की क्षमता भी चार गुना ज़्यादा है. मौजूदा स्थिति में भारत में हर साल में पांच सैटेलाइट अभियान लाँच कर सकता है जबकि चीन की क्षमता 20 अभियान लाँच करने की है. बावजूद इस अंतर के अंतरिक्ष बाज़ार में भारत और चीन की होड़ को जानकर उसी तरह से देख रहें जिस तरह की होड़ कभी अमरीका और सोवियत रूस में हुआ करती थी. बहरहाल, भारत जिस तरह से 104 उपग्रहों को एक साथ भेजने की कोशिश कर रहा है उससे प्राइवेट प्लेयरों में भी उम्मीद पैदा की है. बेंगलुरू स्थित टीम इंडस को भरोसा है कि मौजूदा वातावरण का उसे फ़ायदा मिलेगा. टीम इंड्स चंद्रमा पर सैटेलाइट भेजने वाली पहली निजी कंपनी बनने के लिए प्रयास कर रही है.

कैरीबियन देश डोमिनिकन रिपब्लिक में एक लाइव रेडियो प्रसारण के दौरान दो पत्रकारों की गोली मारकर हत्या कर दी गई. इनमें एक पत्रकार इस कार्यक्रम को फ़ेसबुक लाइव के लिए रिकॉर्ड कर रहा था. फुटेज में दिखता है कि उसके लाइव प्रसारण के दौरान अचानक गोलियां चलने लगती हैं और एक घबराई हुई महिला "गोली चली! गोली चली! गोली चली!" कह कर चिल्लाती है. पुलिस के अनुसार ये घटना मंगलवार को राजधानी सान्तो दोमिन्गो के पूर्वी हिस्से में हुई है. हत्या के सिलसिले में तीन लोगों को गिरफ़्तार किया गया है. गोलीबारी में घटनास्थल पर मौजूद दोनों पत्रकारों की मौत हो गई. इनमें से एक प्रेज़ेंटर लुइस मैनुअल मेडिना और दूसरे रेडियो प्रोड्यूसर लियो मार्टिनेज़ थें. लाइव प्रसारण ने लोगों को ख़तरे में डाला.

कर चोरी के मामले में वाणिज्यकर विभाग के निशाने पर आइबीएम कंप्यूटर कंपनी आ गई है। नोएडा से लेकर लखनऊ तक कंपनी के तीन कार्यालयों पर विशेष अनुसंधान शाखा (एसआइबी) ने सोमवार को छापेमारी की। प्रारंभिक जांच में अधिकारी 200 करोड़ रुपये की कर चोरी का अनुमान लगा रहे हैं। बड़े पैमाने पर एक ही कंपनी की ओर से कर चोरी से नोएडा से लेकर लखनऊ तक हलचल है। विभागीय अधिकारियों के मुताबिक गौतमबुद्ध नगर की एसआइबी टीम ने कर चोरों के खिलाफ 24 घंटे का विशेष अभियान चलाया। इसमें टीम को बड़ी सफलता हाथ लगी है। सोमवार को आइबीएम कंप्यूटर कंपनी पर सीधी कार्रवाई में नोएडा सहित लखनऊ में तीन कार्यालयों पर छापेमारी की गई। कंपनी के वर्ष 2015-16 में ई संचरण फार्म में 125 करोड़ रुपये के कंप्यूटर की खरीदारी की गई है, लेकिन कंपनी सिर्फ 42 करोड़ रुपये के कंप्यूटर ही बेच सकी। बाकी कंप्यूटर कहां गए, इसका कोई भी लेखा जोखा नहीं है। ऐसे में अधिकारियों भारी गड़बड़ी की आशंका पर कंपनी के 2014-15 के दस्तावेजों को कब्जे में ले लिया है। गौतमबुद्धनगर के एडिशनल कमिश्नर (एसआइबी) प्रदीप यादव ने बताया कि आइबीएम कंप्यूटर कंपनी के दस्तावेजों को कब्जे में लेकर एसेसमेंट किया जा रहा है। अब तक प्रारंभिक जांच में 200 करोड़ की कर चोरी सामने आ चुकी है। 18 फरवरी को कंपनी अधिकारियों को बुलाया है। तब तक एसेसमेंट पूरा हो जाएगा और संपूर्ण कर चोरी स्पष्ट होगी।

अपना समाचार भेजे


यह एक ऑनलाइन वेब न्यूज़ प्रोटोकॉल यहाँ आप आप अपने लोकल प्लेस की सभी घटनाये हमे शेयर कर सकते हो और हम आपकी सूचनाएं दुनिया तक पहुचायेंगे

यहाँ क्लिक करे पूरी खबर

हुनर हाट’ का फेसबुक पेज लॉन्‍च हुआ अल्‍पसंख्‍यक मामलों के मंत्रालय की देश के विभिन्‍न हिस्‍सों में और अधिक हुनर हाट लगाने की योजना

तस्वीर देखे

यहाँ क्लिक करे पूरी खबर

डॉ. जितेंद्र सिंह ने ‘स्‍वच्‍छता पखवाड़ा’ के अवसर पर स्‍वच्‍छता की शपथ दिलाई,पूर्वोत्‍तर क्षेत्र स्‍वच्‍छता अभियान में अग्रणी भूमिका निभाएगा : डॉ. जितेंद्र सिंह।

तस्वीर देखे

यहाँ क्लिक करे पूरी खबर

गरीबों के लिए याचिका दाखिल करना आसान हुआ.।

तस्वीर देखे

यहाँ क्लिक करे पूरी खबर

इंडियन बास्केट के कच्चे तेल का वैश्विक मूल्य दिनांक 15.02.2017 को 54.49 अमरीकी डॉलर प्रति बैरल रहा।

तस्वीर देखे

यहाँ क्लिक करे पूरी खबर

डेबिट कार्ड भुगतान होगा सस्ता, 1 अप्रैल से लागू हो सकती हैं नई दरें आरबीआई ने एमडीआर शुल्क में 1 अप्रैल से भारी कटौती का प्रस्ताव किया है.

तस्वीर देखे

यहाँ क्लिक करे पूरी खबर

अंतरिक्ष की दुनिया में सबसे बड़ा खिलाड़ी बना भारत.

तस्वीर देखे

यहाँ क्लिक करे पूरी खबर

सर्दी जुकाम से भी बचा सकता है विटामिन डी.

तस्वीर देखे

यहाँ क्लिक करे पूरी खबर

ट्विटर पर गालीगलौज का अब होगा इलाज.

तस्वीर देखे

यहाँ क्लिक करे पूरी खबर

दुबई में ड्रोन में घूम सकेंगे मुसाफिर.

तस्वीर देखे

यहाँ क्लिक करे पूरी खबर

ब्रह्मोस की मारक क्षमता 450 किलोमीटर की जाएगी.

तस्वीर देखे

यहाँ क्लिक करे पूरी खबर

ब्रह्मांड हॉलग्रेम की तरह समतल है, 3डी नहीं: शोध..

तस्वीर देखे

और क्या है


हम समय पे आप के लिए ,चुनाव , देश , विदेश ,मीडिया , बिज़नस , समाज क्राइम आप के सभी मुद्दों पे लाइव इंटरव्यू , सर्वे, समीक्छा , जैसे आयोजन करते रहते है और करते रहेंगे

सर्वे

आज के दौर में मीडिया का अस्तर इतना गिर गया है , की लोगो का मीडिया पर विस्वास ही उठ गया , बस उसी विस्वास को बचाने के लिए यह कदम है , यहाँ पे आप को निस्पक्छ सर्वे मिलेगा , हर छेत्र से

समिक्छा

यहाँ पे हर खबर पे हमारे एक्सपर्ट का समीक्छा होगा , जो आप लोगो का मार्गदर्शक बनेगा .

लाइव इंटरव्यू

इसमें पोलटिक्स , अधिकारी , समाज सेवक , या फिर जिसको आप चाहते हो आप के डिमांड पे , आप का सवाल जिस से भी हो , वो सवाल उसतक हम पहुचायेंगे आप के भाव में

हमारे लिए कोई मसवरा हो तो हमे दीजिये हमे बहुत प्रसन्ता होगी